सोशल मीडिया पर पढ़ते पढ़ते थक गई इसलिए सोचा आज कुछ लिख दू. प्रधानमंत्री जी के पाकिस्तान से मधुर संबंध हैं काफी इसीलिए वो आते जाते रहतेे हैं..लेकिन अवाम के दिल मे कितना गुबार भरा हुआ है ये वक़्त वक़्त पर दिखता रहता है
पिछले दिनों कुलभूषण जादव की पत्नी और माँ जब उनसे मिलने पहुंचे तो पाकिस्तान के अधिकारियों ने पत्नी और माँ के जूते चप्पल उतरवा दिए जिसकेे बाद हू हल्ला हुआ..जब दोनों मुल्कों में इतनी कड़वाहट है तो सिक्योरिटी परपज़ से ये काम किया गया होगा लेकिन सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के खिलाफ बोलने वालों को देश भक्ति का सर्टिफिकेट मिलता है इसलिए वो मौके का फायदा उठाने में ज़रा भी नही चूकते.

लॉस एंजेल्स एयरपोर्ट पर साल 2011 में शाहरुख खान के कपड़े और जूते चप्पल उतरवाकर 90 मिनट तक उनकी चेकिंग और पूछताछ हुई, 2008 में इरफान खान और कमल हस्सान को न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर भी इसी तर्ज में चेक किया गया. इरफान ने तो ये तक बताया कि जब उन्होंने उनसे सवाल किया तो उनका जवाब था keep silent.. ऐसा ही डायरेक्टर कबीर खान के साथ 2001 में हुआ..
सब तो सब छोड़िए पूर्व राष्ट्रपति ए. पी.जे अब्दुल कलाम 2011 में जब अमेरिका जा रहे थे और अपनी सीट पर बैठ चुके थे तो यू एस सिक्योरिटी स्टाफ ने उन्हें फ्लाइट से नीचे उतार कर उनके जूते चप्पल जैकेट उतरवाकर चेकिंग की थी.
मुझे किसी भी मुल्क से नफरत नही है क्योंकि जानती समझती हूं कि जिस तरह हमारे मुल्क में एक जमात तैयार हो रही है नफरत बोने की उसी तरह हर मुल्क में है लेकिन जब अमरीका सिक्योरिटी परपज़ से हम हिंदुस्तानियों को नंगा करता है तो पूरा मुल्क खामोश रहता है..तब सोशल मिडिया पर देश भक्ति का सर्टिफिकेट नही बंटता..
इतना दोगलापन ठीक नही है।

Kavish aziz lenin

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here