भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आज दूसरा टेस्ट मैच सेंचुरियन के मैदान पर खेला जयेगा। सेंचूरियन वहीं मैदान है, जहाँ भारत ने वर्ल्ड कप 2003 में पाकिस्तान को मात दी थी ,और ये मैच इसलिए भी खास था क्योंकि इस वक़्त पाकिस्तान की बोलिंग अपने सबसे मजबूत दौर में थी जिसमे थे स्विंग के सरताज़ वसीम अकरम ,यॉर्कर के बादशाह वाकर यूनिस, और रावलपिंडी एक्सप्रेस कहे जाने वाले शोयब अख़्तर और उनके साथ एक उम्दा हरफनमौला खिलाड़ी अब्दुल रज़्ज़ाक़,लेकिन कमाल देखिये फिर भारत ने शानदार खेल दिखाते हुए पाकिस्तान के 274 रन के टारगेट को 26 गेंदे शेष और 6 विकेट से शानदार जीत दर्ज की ,और उस मैच के खिलाड़ी बताते है कि जितने तिरंगे उन्होंने उस मैदान पर देखे उतने विदेश में कही नही देखे। तो ये भी अपने आप में एक बड़ी बात है,मगर कुछ भी हो सेंचूरियन का मैदान भारत के लिए कई बार खुशियां लेकर आया है और उम्मीद करते है कि इस बार भी यही हो और भारत ये टेस्ट मैच जीते।
लेकिन यह टेस्ट मैच जीतने के लिए भारत को अपनी पहली हार से बहुत कुछ सीखना होगा और फिर वही गलती न हो इस काम करना होगा।लेकिन दिग्गजो का मानना है कि टीम इंडिया के प्लेइंग 11 में बदलाव की ज़रूरत भी है क्योंकि शिखर धवन लगातार दोनो पारियों में शार्ट पिच गेंद पर आउट हुए जो कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खिलाड़ियों से उम्मीद की जाती है कि वह अपनी गलतियों से सिखेंगे लेकिन ऐसा नही हुआ,वही रोहित शर्मा भी एक बार फिर टेस्ट मैचों में उनका फैल होने का सिलसिला जारी है तो लगभग सभी का मानना है कि शिखर धवन की जगह के अल राहुल को मौका मिलना चाहिए क्योंकि उनका प्रदशर्न विदेशों की पिच पर धवन के मुकाबले बहुत बेहतर है और वही रोहित की जगह भारत के उपकप्तान आजिंक्य राहणे की वापसी होनी चाहिए क्योंकि इस टीम में विराट कोहली मुरली विजय और राहणे ही ऐसे खिलाड़ी है जिन्होंने विदेशी पिचो पर भी रन उसी खूबी से बनाये है जैसे भारत में बनाते है ।तो देखना होगा कि भारत क्या कर पाता है क्या विराट कोहली की यह टीम वापसी कर पायेगी क्या विराट कोहली अड़ियल कप्तान कहे जाने वाले अपनी टीम के प्लेइंग 11 में क्या बदलाव करते है वैसे तो सवाल कई है लेकिन उनका जवाब हम सबको इस टेस्ट मैच के बाद ही मिलेगा।लेकिन अंत में जो भी हो लेकिन भारत को नंबर 1. टीम की तरह खेलना चाहिए बस जो भी हो और एक और ज़रूरी बात विराट कोहली का बतौर कप्तान और बतौर खिलाड़ी भी रन बनाना बहुत ज़रूरी है क्योंकि जब वो रन बनाते है टी पूरी टीम का माहौल और आत्मविश्वास अलग ही स्तर पर चला जाता है।

Hashim

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here