*सरताज सर से जानिये बेहतरीन ऑप्‍शन  ट्रैवल एंड टूरिज्‍म*

अगर आप घूमने के शौकीन हैं और देश की विरासत, संस्‍कृति और देश-विदेश की खूबसूरत जगहों को देखना चाहते हैं तो आपके लिए ट्रैवल एंड टूरिज्‍म बेहतर साबित हो सकता है. इसमें घूमने-फिरने के साथ-साथ आपको करियर बनाने का मौका भी मिल सकता है.

*कई फील्‍ड में हैं मौके:*

टूर ऑपरेटर्स : पर्यटन स्थलों में टूर का संचालन और उसे मैनेज करने का काम करते हैं टूर ऑपरेटर्स. टूरिस्ट गाइड का कोर्स करने के बाद टूर ऑपरेटर्स की नौकरी आसानी से मिल सकती है.

*टूरिज्म डिपार्टमेंट :* रिजर्वेशन ऐंड काउंटर स्टाफ, सेल्स ऐंड मार्केटिंग स्टाफ, टूर प्लानर्स, टूर गाइडेंस. ये वे जॉब हैं, जो सरकारी टूरिज्म डिपॉर्टमेंट की तरफ से ऑफर की जाती हैं. ऑफिसर्स ग्रेड की नौकरी संघ लोक सेवा आयोग या SSC (स्टाफ सलेक्शन कमीशन) एग्‍जाम पास कर हासिल की जा सकती है.

*एयरलाइंस :* यह क्षेत्र ट्रेवॅल ऐंड टूरिज्म इंडस्ट्री का खास हिस्सा है. जिन्होंने टूरिज्म के अलावा होटल मैनेजमेंट का कोर्स भी किया है, वे इस क्षेत्र में आसानी से एंट्री ले सकते हैं.

*ट्रेवॅल एजेंसीज :* ट्रेवॅल एजेंट्स का काम होता है कई सारे विकल्पों के बीच अपने कस्‍टमर को अच्छी सेवा मुहैया कराना. कस्टमर के साथ बेहतर डील करने वालों के लिए यह बेहतरीन जॉब है.

*होटल क्षेत्र :* ट्रेवॅल ऐंड टूरिज्म इंडस्ट्री के विकास के साथ होटलों का एक खास रिश्ता है. यही वजह है कि इस इंडस्ट्री के विकास के साथ-साथ होटल इंडस्ट्री भी लगातार विकसित हो रही है. इससे रोजगार के अवसरों में काफी इजाफा हुआ है. होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद यहां जॉब की संभावनाएं खुल जाती हैं.

*ट्रैवल एंड टूरिज्‍म में कर सकते हैं ये कोर्स:*
√ सर्टिफिकेट कोर्स ऑन एयरलाइंस

√ टिकटिंग एंड टूर प्‍लानिंग

√ फाउंडेशन एंड कंसल्‍टेंट कोर्स इन टूरिज्‍म लैंग्‍वेज

√ ग्रेजुएट इंटिग्रेटेड कोर्स इन टूरिज्‍म

√ बैचलर इन टूरिज्‍म एडमिनिस्‍ट्रेशन

√ डिप्‍लोमा इन टूरिज्‍म मैनेजमेंट

√ डिप्‍लोमा इन टूरिज्‍म एंड डेस्टिनेशन

√ मास्‍टर इन टूरिज्‍म

√ पीजी डिप्‍लोमा इन ट्रैवल मैनेजमेंट

*कोर्स फीस:*
आमतौर पर सर्टिफिकेट कोर्स को छोड़कर डिप्‍लोमा, डिग्री और पोस्‍ट ग्रेजुएट कोर्स के लिए सालाना फीस 10 से 25 हजार रुपए तक है.

*जरूरी हैं ये स्किल्‍स:*
अंग्रेजी-हिन्दी के साथ विदेशी भाषाओं पर पकड़ है तो आप इस फील्‍ड में अच्‍छी पकड़ बना सकते हैं. देश और दुनिया की संस्कृति और रीति-रिवाजों से जुड़ाव होना.
एडवेंचरस नेचर का होना जरूरी.

*प्रमुख संस्‍थान:*
दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टूरिज्म ऐंड ट्रेवॅल मैनेजमेंट, नई दिल्ली

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी

आंध्र यूनिवर्सिटी, विशाखापट्टनम

लखनऊ यूनिवर्सिटी, यूपी

इग्नू, दिल्ली

सरताज सर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here