देश में कई समस्याएँ विकराल रूप लेती जा रही हैं। जैसे कि बैंकों का बढ़ता हुआ घाटा, गर्मी का कहर, पानी की किल्लत और पेट्रोल के आसमान छूते दाम वगैराह। इस बीच सोश्ल मीडिया पर खासे एक्टिव हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विराट कोहली का फ़िटनेस चैलेंज स्वीकार कर लिया।

दरअसल हाल ही में केन्द्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने एक वीडियो मैसेज के जरिये क्रिकेटर विराट कोहली को फ़िटनेस चैलेंज दिया था और इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए कहा था। विराट ने केंद्रीय मंत्री का चैलेंज स्वीकार कर अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा और क्रिकेटर एमएस धोनी के साथ पीएम मोदी को भी इस चैलेंज के लिए नामांकित कर दिया। विराट के कारनामे का असर हुआ कि प्रधानमंत्री ने त्वरित कार्यवाही करते हुए उनकी चुनौती स्वीकार कर ली और अपनि फ़िटनेस पर बात करने के लिए रजामंदी दे दी।

राहुल-तेजस्वी चैलेंज
इस वजह से मोदी जी सोश्ल मीडिया और विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। काँग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके उनसे अपने मन की बात कही। राहुल ने लिखा है ”डियर पीएम, यह देखकर खुशी हुई कि आपने विराट कोहली का फिटनेस चैलेंज स्वीकार किया। यहां मेरी ओर से भी एक चैलेंज है. आप तेल की कीमतों को कम करें, नहीं तो कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन करेगी और आपको ऐसा करने को मजबूर करेगी. मैं आपके जवाब का इंतजार कर रहा हूं. #फ्यूलचैलेंज”

राहुल से पहले बिहार में विपक्ष के नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी मोदी जी के इस चैलेंज पर निशाना साधा था। तेजस्वी ने ट्वीट किया ”हमारे दिल में विराट कोहली के फिटनेस चैलेंज को स्वीकार करने के खिलाफ कुछ भी नहीं है. मैं आपसे आग्रह करता हूँ कि, नौजवानों को रोज़गार, किसानों को राहत, दलितों और अल्‍पसंख्‍यकों के खिलाफ हिंसा न हो इस बात का वादा करने का चैलेंज स्वीकार करें. प्रधानमंत्री महोदय क्‍या आप मेरा चैलेंज स्‍वीकार कर रहें हैं?”

विराट के चैलेंज का मिनटों में जवाब दे चुके मोदी जी ने अब तक दोनों नेताओं के ट्वीट्स और चैलेंज का जवाब नहीं दिया है।

इनसे भी सवाल
वहीं दूसरी तरफ वरिष्ठ पत्रकार पून्य प्रसून जोशी ने खेल मंत्री पर तंज़ कसते हुए ट्वीट किया है। जोशी ने लिखा है “कभी किसान का चैलेंज स्वीकार किजिये … 18 घंटे खुले आसमान तले गर्मी-ठंड-बारिश में काम किजिए.. फिर मेहनत की एवज़ में बिना कमाई भूखे पेट सो जाईये… उसके बाद डंड/बैठक की चुनौती तमाम सेलेब्रिटीज़ को दिजिए… “देश बदल जाएगा”।

बताते चलें की जनता और मीडिया तमिलनाडु के तूतीकोरिन गोलीकांड पर भी पीएम की टिप्पणी का इंतज़ार कर रही है। प्रशिक्षित स्पिनरों द्वारा गोली मारे जाने से वहाँ अब तक प्रदर्शन कर रहे 13 लोगों की मौत हो चुकी है. वहाँ पर लोग स्टरलाइट कॉपर प्लांट की वजह से लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

देखना ये है कि राष्ट्रीय स्तर के नेता इन सवालों के जवाब किस तरह देते हैं और किस नए चैलेंज के साथ जनता के सामने आते हैं।

हिन्दी गैजेट टीम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here