मेरे प्यारे मुसलमानों,

आओ बैठो, पानी पियो आज सुकून से बात करनी है गोल घेरा बनाकर बैठों हर किसी को हर किसी की शक्ल नज़र आनी चाहिए कोई भी छुपकर सो न जाये ग़ाफ़िल न हो जाये.

हां तो बात ये है क्या आपने कभी पपेट शो देखा है? जिसमे कपड़े से बने गुड्डे गुड़िया को उनके हाथ पैर में धागा बांधकर नचाया जाता है और उनकी कमान उनके नचाने वाले के हाथ मे होती है. अगर आपने पपेट शो नही देखा तो एक बार देख आइए, जो जाकर न देख पाए उनको एक बार यूट्यूब पर देखना चाहिए.

इतना समझ लो आपलोग इस देश की राजनीति के पपेट हैं. जैसा नचाया जाता है वैसा नाच जाते हैं उसी दिशा में भागने लगते हैं हर बात पर बोलना लिखना ज़रूरी नही होता. मुझे सही से ध्यान नही मैने यह लाइन कहाँ पढ़ी थी “जिस भी चीज़ का वजूद ख़त्म करना हो तो उस चीज़ का ज़िक्र भी करना बंद कर देना चाहिए’ लेकिन मजाल है कि हमे कोई चुप करा दे. हम हर उस मसले पर बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेंगे जिसका आखिर में कोई वजूद नही है सिर्फ दो गुट बनकर छीछालेदर होने के अलावा कुछ न होगा.

राजनीतिक पार्टियां एक शिगूफा छोड़ देती हैं और अपन लोग लग जाते हैं मस्त जज़्बात की नदियां बहाने में. 2 दिन पहले कोई मौलाना ने एक महिला को कूट मारा. पहले महिला ने मारा बाद में मौलाना ने हाथ उठाया, मीडिया ने मौलाना को टारगेट किया जो कि उनका मकसद था और उनके मकसद को अपनी चर्चाओं का विषय बनाकर हमने पूरी तरह से अंजाम दे दिया. मौलाना पिटा पिटने दो, जबकि हम सही गलत ठहराकर उसी की चर्चा कर रहे हैं कइयों से स्टूडियो न जाने के खिलाफ फतवे की मांग करदी, कइयों ने सारे मौलानाओं को लपेट दिया और कुछ फ़र्ज़ी लिब्रल्स ने इसे धार्मिक कट्टरपन बताया तो कुछ सो कॉल्ड फेमिस्ट्स ने इसे नारीवाद का मसला बनाया. ज़रा सोचिए कि इस मसले को एक भी मुसलमान डिसकस ही न करता तो माहौल क्या होता? मुसलमान अपने जाएज़ सवाल करता, अपने बच्ची बच्चों के लिए रिजर्वेशन मांगता, नौकरी मांगता, सुरक्षा मांगता, लेकिन हमने क्या मंगा स्टूडियो में ना जाने के खिलाफ फतवा.

नज़र अंदाज़ करिये इनकी आधी ताक़त और आधा प्रोपगंडा आप यूँ ही समेट देंगे, क्योंकि ध्यान आपका भटकेगा नही और भसड़ मचेगी नही और अगली बार इनको कुछ और सोचना पड़ेगा. समझ आये तो बढ़िया वरना बाकी तो सब कमल के धनी है हीं, खूब meme बनाकर मज़ा लूटिए, नाटक चालू है पर्दा भी जल्दी गिर जाएगा.

इमरान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here