credit-pycker

सुशांत सिंह राजपूत  यह वह नाम है जिसने बॉलीवुड में बड़ी जल्दी अपना नाम कमाया,परिवारवाद के दौर में जोकि बॉलीवुड में  एक कलंक के रूप में भी देखा जाता है लेकिन ये अभिनेता वह है जिसने बॉलीवुड में  बिना किसी के सिर्फ अपनी कड़ी मेहनत से अपना नाम कमाया |

इनका जन्म 21 जनवरी 1986 को पटना, बिहार में हुआ था। उनके पिता एक सरकारी अधिकारी थे, हालांकि, बिहार के पूर्णिया जिले के मालडीहा में परिवार की जड़ें हैं। उनकी मां के निधन के बाद उनका परिवार दिल्ली आ गया। सुशांत की चार बड़ी बहनें हैं। उनकी एक बहन राज्य स्तरीय क्रिकेटर है। सुशांत सिंह राजपूत पटना के सेंट करेन हाई स्कूल गए और नई दिल्ली के कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल में भाग लिया। वह अकादमिक रूप से उज्ज्वल थे और उन्होंने फिजिक्स  में राष्ट्रीय ओलंपियाड भी जीता। उन्होंने अखिल भारतीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में 7 वां स्थान प्राप्त किया और आईएसएम धनबाद सहित कम से कम ग्यारह इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं को पास किया। उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग(DTU) में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए दाखिला लिया, लेकिन अभिनय में अपना करियर बनाने के लिए चौथे साल में पढ़ाई छोड़ दी थी|

2008 में, बालाजी टेलीफिल्म्स की कास्टिंग टीम ने उन्हें स्पॉट किया जब वह एक्यूट के नाटकों में से एक के लिए मंच पर थे। उनका पहला टेलीविजन धारावाहिक किस देश में है मेरा दिल था। इस धारावाहिक में उनका किरदार बहुत कम समय के लिए था, लेकिन उन्होंने तब तक कई दिल जीत लिए। इसके बाद उन्होंने पवित्रा रिश्ता  में अभिनय किया, जिससे उन्हें अपने करियर में एक मील का पत्थर स्थापित करने में मदद मिली। उन्होंने दो डांस रियलिटी शो, जरा नचके दिखा 2 और झलक दिखला जा 4 में भी भाग लिया। उनके फिल्मी करियर की शुरुआत बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई करने वाली फिल्म काई पो चे से हुई थी,इसके बाद उन्होंने कई लगातार हिट फिल्मे की तो हम चर्चा  करते है उनकी कुछ बेहतरीन फिल्मो पर

credit-amazon

 

किरदार : ईशान भट्ट

फिल्म : काय पो चे (2013)

टीवी के कुछ लोकप्रिय धारावाहिकों में काम करने के बाद, इस फिल्म से सुशांत ने हिंदी फिल्मों में अपने करियर की शुरुआत की। तीन युवाओं को केंद्र में रखकर बनाई गई इस फिल्म में ईशान के रूप में सुशांत का किरदार खेलों में रुझान रखने वाले एक युवा का है। उसे राजनीति, व्यापार आदि में कोई दिलचस्पी नहीं है लेकिन एक वक्त ऐसा आता है जब ईशान जाने अनजाने में सब कुछ कर जाता है। इस फिल्म के साथ सुशांत अपनी पहली ही परीक्षा में सफल हुए और फिल्म में शानदार अभिनय के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू के लिए नामित किया गया।

credit-hotstar

किरदार : महेंद्र सिंह धोनी

फिल्म : एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी (2016)

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की यह बायोपिक सुशांत सिंह राजपूत के करियर की सबसे बड़ी हिट फिल्म है। शुरुआत से ही एक महत्वाकांक्षी युवा महेंद्र के किरदार में सुशांत ने इस फिल्म में बेहतरीन अभिनय का प्रदर्शन किया है। बिहार में ही पैदा हुए सुशांत को इस फिल्म में उसी बोली के साथ काम करने का मौका मिला और उन्होंने इस किरदार में ढलकर उम्दा काम किया। इसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के फिल्मफेयर अवॉर्ड के लिए नामित किया गया।

credit-timesofindia

किरदार : मंसूर खान

फिल्म : केदारनाथ (2018)

केदारनाथ में आई प्राकृतिक आपदा को केंद्र में रखकर बनाई गई इस फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत शुद्ध भाव से तीर्थ यात्रियों की सेवा करने वाले एक मुस्लिम युवक मंसूर खान के रूप में नजर आए। खालिस ब्राह्मण की लड़की (सारा अली खान) के साथ मोहब्बत करने से मंसूर की दिक्कतें बढ़ती हैं और उसे ब्राह्मणों के कोप का शिकार होना पड़ता है। मंसूर एक साहसी, ईमानदार और चरित्र का साफ शख्स है, जो आपदा आने पर बिना भेदभाव के सभी की मदद करता है।

credit-google

किरदार : अनिरुद्ध पाठक / अन्नी

फिल्म : छिछोरे (2019)

पिछले साल ही रिलीज हुई फिल्म छिछोरे में अपने पांच दोस्तों के साथ मिलकर अन्नी के रूप में सुशांत अपने बेटे को एक सबक सिखाने के लिए पूरी फिल्म की कहानी रचते हैं जिसमें उनका लड़का इंजिनीरिंग के एग्जाम में फ़ैल हो जाता है,और उस असफ़लता के डर से आत्महत्या का प्रयास करता है और छत से कूद जाता इसके बाद इस फ़िल्म सुशांत अपने लड़के को फिर ज़िंदगी में खड़ा होने के लिए प्रेरित करते है। अपने स्कूल और कॉलेज के दिनों का उदाहरण देकर अन्नी अपने बच्चे को बताता है कि जिंदगी में असफल होने के बाद भी बहुत कुछ होता है। हम फिर से कोशिश कर सकते हैं। कहानी के आधार पर समीक्षकों की सराहना से परिपूर्ण इस फिल्म में सुशांत ने शानदार अभिनय का प्रदर्शन किया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here