credit-punjab kesari

IAS बनने के बारे में आपको क्या जानना चाहिए

आईएएस क्या है?

भारतीय प्रशासनिक सेवा को लोकप्रिय रूप से IAS के रूप में जाना जाता है और 1947 में गठित किया गया था। यह भारत में एक आकर्षक और चुनौतीपूर्ण कैरियर प्रदान करता है।
यह अखिल भारतीय प्रशासनिक सिविल सेवा (All India Administrative Civil service) के लिए अधिकारियों की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) द्वारा आयोजित किया जाता है।

आईएएस अधिकारियो को मिलने वाले पद

सिविल सर्वसी परीक्षा (CSE) के माध्यम से तीन प्रकार या नौकरियों की श्रेणियां हैं।

1. अखिल भारतीय सिविल सेवा

2. ग्रुप ए सर्विसेज या सेंट्रल सेवाएँ

3. ग्रुप बी सर्विसेज या राज्य सेवाएँ अखिल भारतीय सिविल सेवा नौकरियां सूची-

i.भारतीय प्रशासनिक सेवा या IAS

ii.       भारतीय विदेश सेवा या IFS

iii.       भारतीय पुलिस सेवा या IPS.
ग्रुप ए सर्विसेज की सूची-

i. भारतीय पी एंड टी खाते और वित्त सेवा

ii.  भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा

iii.  भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क और केंद्रीय उत्पाद शुल्क)

iv.  भारतीय रक्षा लेखा सेवा

v.   भारतीय राजस्व सेवा (I.T.) या IRS

vi.   भारतीय आयुध कारखानों सेवा (सहायक निर्माण प्रबंधक, प्रशासन)

vii.  भारतीय डाक सेवा

viii.  भारतीय सिविल लेखा सेवा

ix.   भारतीय रेल यातायात सेवा

x.    भारतीय रेलवे लेखा सेवा

xi.   भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा

xii.  भारतीय रेलवे सुरक्षा बल (सहायक सुरक्षा आयुक्त)

xiii.  भारतीय रक्षा संपदा सेवा

xiv.   भारतीय सूचना सेवा (जूनियर ग्रेड)

xv.    भारतीय व्यापार सेवा, ग्रुप ‘ए’ (जीआर III)

xvi.   भारतीय कॉर्पोरेट कानून सेवा समूह की सूची –

बी सेवाएँ

i.   सशस्त्र बल मुख्यालय सिविल सेवा (अनुभाग अधिकारी ग्रेड)

ii.   दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली सिविल सेवा

iii.   दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, दमन और दीव और दादरा और नगर हवेली पुलिस सेवा

iv.  पांडिचेरी सिविल सर्विस

v.   पांडिचेरी पुलिस सेवा

vi.   भारतीय वन सेवा – भारतीय वन सेवा और भारतीय सिविल सेवा के लिए एक संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की जाती है।    

योग्यता          

राष्ट्रीयता: उम्मीदवार भारत का नागरिक, नेपाल या भूटान का नागरिक होना चाहिए या एक तिब्बती शरणार्थी होना चाहिए जो 1 जनवरी, 1962 से पहले भारत में बसने के लिए आया था. भारतीय मूल के वो लोग जो इथियोपिया, केन्या, मलावी, म्यांमार, पाकिस्तान, श्रीलंका, तंजानिया, युगांडा, वियतनाम, ज़ैरे या ज़ाम्बिया से भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से आये हैं

शैक्षिक योग्यता

उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए, जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन की परीक्षा दे के रिजल्ट का इंतज़ार कर रहे हैं, वो भी इस इम्तेहान में बैठ सकते है।

आयु सीमा:

उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष होनी चाहिए। इन उम्मीदवारों के लिए ऊपरी आयु सीमा में छूट दी गई है: 5 वर्ष – अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति (ST/SC) 3 वर्ष – अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) 3 वर्ष – रक्षा सेवा कार्मिक 5 वर्ष – जिन्होंने कम से कम 5 साल की सैन्य सेवा प्रदान की है 10 साल – ब्लाइंड, बधिर-मूक, और आर्थोपेडिक रूप से विकलांग व्यक्ति5 साल – जिन्होंने सैन्य सेवा के पांच साल के असाइनमेंट की प्रारंभिक अवधि पूरी कर ली है प्रयासों की संख्या: 1984 के बाद से प्रयासों की अधिकतम संख्या पर प्रतिबंध प्रभावी है: सामान्य उम्मीदवार: 6 प्रयास(32 वर्ष तक) अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (SC / ST): कोई सीमा नहीं (37 वर्ष तक) अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC): 9 प्रयास (35 वर्ष तक) शारीरिक रूप से विकलांग – 9 प्रयास सामान्य और OBC, जबकि SC / ST के लिए असीमित है

कैसे बनें IAS अधिकारी

पहला कदम (prelims) दो पेपर होते हैं और कुल 400 अंकों की परीक्षा होती है।

पेपर- I में सामान्य विषय शामिल हैं, जैसे कि इतिहास, भूगोल, राजनीति, विज्ञान, पर्यावरण, आदि।

पेपर- II सिविल सेवा योग्यता परीक्षा (CSAT) यानी रीजनिंग के लिए होता है.

दूसरा कदम (mains)उम्मीदवार जो प्रारंभिक परीक्षा में न्यूनतम कट-ऑफ स्कोर प्राप्त करते हैं, वे मुख्य परीक्षा के लिए योग्य होते हैं. इसमें नौ पेपर होते हैं जिनमें दो क्वालिफाइंग पेपर शामिल होते हैं। हालांकि, योग्यता को केवल एक निबंध, सामान्य अध्ययन और वैकल्पिक पेपर के लिए गिना जाता है।

तीसरा कदम (interview)दिल्ली में आयोग के मुख्यालय में, 275 अंकों के लिए, आयोजित किया जाता है। मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त अंकों से फाइनल रैंकिंग बनती है।

एग्जाम में इन गलतियों से बचें

मुद्दे से अलग कुछ भी न लिखें ·

कॉपी के किसी भाग में किसी को अपनी पहचान का खुलासा नहीं करना चाहिए·

लिखावट साफ़ हो ·

गलत आंकड़े न डालें·

किसी सरकार या पार्टी पर टिप्पड़ी या हमला न करें

यदि कोई व्यक्ति ऐसा कर लेता है तो उसके लिए IAS बनना काफी हद तक आसान हो जाता है

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here