credit-telegraphindia

पूर्व आईएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन ने गृह मंत्री अमित शाह के प्रस्ताव स्वीकार किया है। कल अमित शाह ने अपने भाषण में कहा कि जो कोई भी सीएए पर चर्चा करना चाहता है वह उनके कार्यालय में आकर उनसे मिल सकता है। इस पर इस पूर्व आईएएस अधिकारी ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी

गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में एक कार्यक्रम में कहा, “जो कोई भी मेरे साथ सीएए से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करना चाहता है, वह मेरे कार्यालय आ सकता है’’ इसमें इन्होने 3 दिन का समय भी दिया था

गृह मंत्री ने कहा कि दिल्ली चुनावों पर उनका आकलन गलत हो गया, लेकिन जोर देकर कहा कि चुनावों के परिणाम नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर जनादेश नहीं थे। और वह इसपर बने रहेंगे .

क्यों दिया इस अधिकारी ने इस्तीफा –

33 साल के कन्नन गोपीनाथन ने बताया कि सरकारी अधिकारी होने के नाते वे अनुच्छेद 370 के हटाए जाने पर अपने विचार व्यक्त नहीं कर सकते हैं और इसी मजबूरी की वजह से उन्होंने इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला किया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here