credit-google

   द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, जामिया मिलिया इस्लामिया ने 15 दिसंबर, 2019 को यूनिवर्सिटी के अंदर पुलिस की बर्बरता से हुए नुकसान जोकि अनुमानित 2.66 करोड़ है.जामिया प्रशासन ने इस संपत्ति के  नुकसान की भरपाई के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक नोटिस भेजा है.

credit-firstpost

एक अनुमान है कि  4.75 लाख के केवल सीसीटीवी कैमरे का नुकसान है और कैमरो की संख्या 25 से ज्यादा बताई जा रही है.

पिछले कुछ दिनों में, जामिया के सीसीटीवी फुटेज से कई वीडियो क्लिप बाहर आये है, जो पुलिस कर्मियों को छात्रों पर लाठीचार्ज करने के साथ-साथ लाइब्रेरी के अंदर रीडिंग रूम के अन्दर  लाठीचार्ज करते हुए देखा गया और तो और सीसीटीवी कैमरे को लाठी से तोड़ते हुए भी इस फुटेज में देखा गया.

credit-newindianexpress

हालाकि दिल्ली पुलिस अभी भी इसको मान नही रही है जैसा वो पहले कह रही थी की पुलिस कैंपस में नही गई थी,उन्होंने  कहा है कि कुछ वीडियो एडिट किए गए हैं और वे इसकी सत्यता की पुष्टि कर रहे हैं, पुष्टि के बाद वह जवाब देंगे ।

जामिया मिलिया इस्लामिया द्वारा प्रस्तुत अनुमान के अनुसार, पुलिस कार्रवाई के दौरान सार्वजनिक संपत्ति, (2,66,16,390 रूपये) की  क्षति हुई। पुलिस ने कहा है कि वे “दंगाइयों” की तलाश में थे और इसी वजह से कैंपस में गए, लेकिन उन्होंने तब भी लाइब्रेरी के अंदर लाठी चार्ज वाली बात को गलत बताया लेकिन सीसीटीवी फुटेज में सबने सच देखा. ।जबकि जामिया प्रोक्टर  ने कहा है कि सुरक्षाकर्मियों ने बिना अनुमति के प्रवेश किया है, इसकी इज़ाज़त हमने नही दी थी.

तारिक अशरफ लाइब्रेरियन ने पहले कहा था, “लाइब्रेरी में सबसे ज्यादा नुकसान कांच के शीशे के टूटने से हुआ है। क्षतिग्रस्त हुई कुछ अन्य चीजें सीसीटीवी कैमरे और ट्यूबलाइट आदि हैं, लेकिन शुक्र है कि कोई किताब या पांडुलिपियों को नहीं छुआ गया। ”

इंडियन एक्सप्रेस अपनी एक रिपोर्ट में बताया ‘’कि लाइब्रेरी के उपकरण, दरवाजे, खिड़की के शीशे, एसी यूनिट, इलेक्ट्रिकल सिस्टम, कुर्सियां, मेज, लाइट और शीशे कार्रवाई में क्षतिग्रस्त हो गए थे। यूनिवर्सिटी के अनुमान के अनुसार,  55 लाख के उपकरण भी क्षतिग्रस्त हुए है, अन्य नुकसान शामिल नही है

credit-indiatoday

कुल हुए नुकसान को अगर विभाजित करके देखा जाए तो कुछ इस प्रकार से है यह सब यूनिवर्सिटी ने ही बताया है  –

  • 41.25 लाख के 75 दरवाजे,
  • 220 विंडो पैन की कीमत ₹ 22.5 लाख
  • रेलिंग की कीमत 18 लाख
  • 15 लाख के कंप्यूटर और टेबलेट आदि
  •  14 लाख के 35 लाइब्रेरी टेबल
  • 7 लाख की कुर्सी
  • 6 लाख के पेड़ ,पोधे और अन्य चीज़े
  • 4.5 लाख के दरवाजे7 लाख के टॉयलेट और अन्य वाशरूम की चीज़े तकरीबन 8 लाख की टाइलें और अन्य चीज़े भी इसमें शामिल है.
  • credit-thecaravan

सबसे बड़ी चीज़ इसमें शामिल ही नही यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को जो मानसिक नुकसान हुआ  शारीरिक हमला हुआ दर्जनों स्टूडेंट्स के हाथ- पैर टूटे एक स्टूडेंट मिन्हाज़ की तो एक आँख की रौशनी तक चली गई क्योंकि लाठी चार्ज में पुलिस ने उसकी एक पर लाठी से हमला किया. तो इसकी भरपाई कौन करेगा इसका जवाब किसी के पास नही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here