Home social मार्शल आर्ट्स में मेरठ का नाम रोशन कर रहे हैं गौरव सोलंकी

मार्शल आर्ट्स में मेरठ का नाम रोशन कर रहे हैं गौरव सोलंकी

मेरठ में कंकरखेड़ा स्थित वारियर्स फाइट क्लब में प्रशिक्षण कर रहे गौरव ने जूनियर से सीनियर नेशनल तक की प्रतियोगिताओं में ढेरों पदक जीते हैं।

0

मार्शल आर्ट्स की विभिन्न विधाओं में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए मेरठ के गौरव सोलंकी लगातार पदक जीत रहे हैं। शुक्रवार से चड़ीगढ़ में शुरू हो रही वुशू की सीनियर नेशनल प्रतियोगिता में भी हिस्सा ले रहे हैं। वुशू के अलावा गौरव ने ताइक्वांडो सहित अन्य खेलों में भी हिस्सा लिया है। वुशू के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी व कोच कपिल कुमार के मार्गदर्शन में वुशू और ताइक्वांडो सीखते हुए गौरव सोलंकी पे शुरू से ही अपने प्रदर्शन को बेहतरीन रखा है। गौरव ने साल 2006 में प्रशिक्षण शुरू किया था। उसी साल से पदक जीतना भी शुरू कर दिया था। साल 2006 से 2011 तक लगातार हर साल सब-जूनियर प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतते रहे हैं। साल 2011 से 2014 तक जूनियर स्टेट चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। साल 2015 से 2021 तक हर साल सीनियर स्टेट चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक के साथ चैंपियन बनकर उभर और मेरठ का नाम रोशन किया।

स्कूल से यूनिवर्सिटी तक रहा है दबदबा

छोटी उम्र से ही ताइक्वांडो सीख रहे गौरव सोलंकी ने साल 2010 में सीबीएसई क्लस्टर नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा लेकर ताइक्वांडो में स्वर्ण पदक जीता था। ताइक्वांडो ईस्‍ट जोन में लगातार दो बार कांस्य पदक जीता। स्कूल स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन को गौरव ने विश्वविद्यालय स्तर पर भी कायम रखा है। वर्तमान में चौ. चरण सिंह विवि से एमपीएड की पढ़ाई कर रहे गौरव सोलंकी ने आल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी 2019 में वुशू चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और रजत पदक जीता। आल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी ताइक्वांडो चैंपियनशिप में दो बार हिस्सा लिया। मार्शल आट्र्स के अलावा भी अन्य खेलों में रुचि रखने वाले गौरव सोलंकी ने आल इंउिया इंटर यूनिवर्सिटी की टग आफ वार प्रतियोगिता में चार बार प्रतिभाग किया है।

जूनियर से सीनियर नेशनल तक जीते कई पदक

मेरठ में कंकरखेड़ा स्थित वारियर्स फाइट क्लब में प्रशिक्षण कर रहे गौरव ने जूनियर से सीनियर नेशनल तक की प्रतियोगिताओं में ढेरों पदक जीते हैं। सब-जूनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2010 केरल के तिरुवनंतपुरम में हुई थी जिसमें गौरव ने स्वर्ण पदक जीता था। जूनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2012 रांची में हुई थी जिसमें गौरव ने कांस्य पदक जीता। जूनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2014 छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव में हुई जिसमें गौरव ने स्वर्ण पदक जीता। इसके बाद सीनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2015 पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में हुई जिसमें गौरव ने कांस्य पदक जीता। सीनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2018 का आयोजन शिलांग में हुआ जिसमें गौरव ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक जीता। सीनियर नेशनल वुशू चैंपियनशिप 2019 का आयोजन जम्मू-कश्मीर में हुआ। यहां गौरव ने रजत पदक जीता।

देश के बाहर भी जीता पदक

गौरव सोलंकी ने नेशनल में दमदार प्रदर्शन के साथ ही अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भी पदक जीता है। इंडो-नेपाल ताइक्वांडो चैंपियनशिप नेपाल के काठमांडू में हुई थी। इस प्रतियोगिता में गौरव के नाम रजत पदक रहा था। इसके बाद मास्को वुशू स्टार्स 2020 अंतरराष्ट्रीय वुशू चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और रजत पदक जीतकर लौटे। चंडीगढ़ में शुक्रवार से राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के साथ ही गौरव सोलंकी वर्तमान में एशियन चैंपियनशिप की तैयारी भी कर रहे है

गुरु ही हैं गौरव के आइकन

मार्शल आट़र्स के क्षेत्र में गौरव सोलंकी के आइकन उनके कोच ही हैं। उनके कोच कपिल चौधरी और अमित पाल ने ही उनका मार्गदर्शन किया है और वह उन्हीं के बतारे रास्तों पर आगे बढ़ते हुए सफलता की सीढ़ियां पदकों की तर्ज पर चढ़ रहे हैं। गौरव के पिता पदक सिंह रोडवेज में कार्यरत हैं। परिवार में गौरव ही मार्शल आट्र्स के खेल से जुड़े हुए हैं। इसी क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए गौरव अपने करियर को गढ़ने की कोशिश कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here