अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन


एजेंसी, वाशिंगटन।
Published by: Jeet Kumar
Updated Fri, 07 Jan 2022 05:02 AM IST

सार

राष्ट्रपति बाइडन ने कहा कि इतिहास में पहली बार एक राष्ट्रपति चुनाव हारा और उसने सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण रोकने की कोशिश की।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

अमेरिकी संसद परिसर कैपिटल हिल पर ट्रंप समर्थकों के हमले और हिंसा की पहली बरसी पर राष्ट्रपति जो बाइडन ने पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर हमला बोला। बरसी पर हुए आयोजन में राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, ट्रंप ने आज भी अमेरिका और उसके लोकतंत्र के गले पर तलवार रखी हुई है।

पिछले साल राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन की जीत के बाद ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल हिल में घुसकर भारी तोड़फोड़ की थी। उस हिंसा में पांच लोग मारे गए थे। उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की मौजूदगी में बाइडन ने कहा, हम अमेरिका की आत्मा बचाने के लिए संघर्ष करेंगे।

इस मामले के बाद दुनियाभर में अमेरिकी लोकतंत्र के भविष्य पर सवाल उठने लगे थे। बाइडन ने कहा कि इतिहास में पहली बार एक राष्ट्रपति चुनाव हारा और उसने सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण रोकने की कोशिश की। उसने अमेरिकी लोकतंत्र को नीचा दिखाने के लिए झूठ का जाल बुना। इसके कारण राजधानी की सड़कों पर हिंसक भीड़ उतर आई, लेकिन वे नाकाम रहे।

उन्होंने कहा कि संसद पर भी हमला किया गया, लेकिन हम लोग टिके रहे। हमारी जीत हुई। इस मौके पर पूर्व उपराष्ट्रपति और रिपब्लिकन दिग्गज डिक चेनी ने भी ट्रंप पर जमकर हमला बोला।

विस्तार

अमेरिकी संसद परिसर कैपिटल हिल पर ट्रंप समर्थकों के हमले और हिंसा की पहली बरसी पर राष्ट्रपति जो बाइडन ने पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर हमला बोला। बरसी पर हुए आयोजन में राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, ट्रंप ने आज भी अमेरिका और उसके लोकतंत्र के गले पर तलवार रखी हुई है।

पिछले साल राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन की जीत के बाद ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल हिल में घुसकर भारी तोड़फोड़ की थी। उस हिंसा में पांच लोग मारे गए थे। उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की मौजूदगी में बाइडन ने कहा, हम अमेरिका की आत्मा बचाने के लिए संघर्ष करेंगे।

इस मामले के बाद दुनियाभर में अमेरिकी लोकतंत्र के भविष्य पर सवाल उठने लगे थे। बाइडन ने कहा कि इतिहास में पहली बार एक राष्ट्रपति चुनाव हारा और उसने सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण रोकने की कोशिश की। उसने अमेरिकी लोकतंत्र को नीचा दिखाने के लिए झूठ का जाल बुना। इसके कारण राजधानी की सड़कों पर हिंसक भीड़ उतर आई, लेकिन वे नाकाम रहे।

उन्होंने कहा कि संसद पर भी हमला किया गया, लेकिन हम लोग टिके रहे। हमारी जीत हुई। इस मौके पर पूर्व उपराष्ट्रपति और रिपब्लिकन दिग्गज डिक चेनी ने भी ट्रंप पर जमकर हमला बोला।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here